mujhe apni aukat achi lagti hai बैठ जाता हूं मिट्टी पे अक्सर... क्योंकि मुझे अपनी औकात अच्छी लगती है..
Continue Reading »