Jhuth bik gaya sara aur hum sach ko na bech paye
Jhuth bik gaya sara aur hum sach ko na bech paye

दोपहर तक बिक गया सारा झूठ बाजार में
और हम एक सच को लेकर शाम तक बैठे रहे।

Sanjeev JaiswalReal Experience QuotesShayarihindi shayariदोपहर तक बिक गया सारा झूठ बाजार में और हम एक सच को लेकर शाम तक बैठे रहे।Share what you like